HomeEducationजीडीपी का मतलब क्या होता है | what is GDP in Hindi...

जीडीपी का मतलब क्या होता है | what is GDP in Hindi full form

नमस्कार दोस्तों आज की इस लेख में हम लोग जानने वाले हैं कि जीडीपी क्या होता है और इसकी गणना कैसे की जाती है आप लोगों ने या तो टीवी में या फिर किसी के मुंह से जीडीपी के बारे में तो जरूर सुना होगा आज मैं आप लोगों को इसका परिभाषा बताने वाला हूं किस का फुल फॉर्म क्या होता है और भारत जीडीपी के मामले में कितने नंबर पर हैं पूरी जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी तो हमारे साथ पूरा जरूर बने रहिएगा

what is GDP in Hindi full form

GDP का क्या मतलब हैं | what is GDP in Hindi

साफ शब्दों में बोले तो जीडीपी से यह पता लगाया जाता है कि हमारे देश में कुल कितनी कंपनियां उत्पाद करती हैं अगर हमारे देश की कंपनी ने ज्यादा बड़ी हैं और ज्यादा माल बना रही है तो यानी कि हमारा देश सही है और हमारे देश में सब लोगों को रोजगार मिलेगा और वहीं अगर कंपनियां नीचे गिर गई मैं तो हमारे देश की जीडीपी गिर रही है और इससे हमारे देश की अर्थव्यवस्था खराब हो सकती है इजी और आसान से समझाने के लिए मैं आपको बताता हूं कि जैसे कि मान लीजिए हमारे देश में एक गुल्लक है और उस गुल्लक को सरकार चलाती है और हमारे देश में 1 साल में कितना कितनी कंपनियां अपने माल को बेची या फिर कितनी जिम ट्रेनर है जो पैसा कमाए रिक्शावाला 1 साल में कितना धंधा किया या फिर किराना स्टोर वाले भैया ने 1 साल के अंदर कितना मुनाफा कमाया यह सारी चीजें हमारे सरकार के पास जो गुल्लक है उसमें जाती है और इसी से जीडीपी निकाला जाता है यानी कि हम जिस भी सामान को पैसे देकर खरीदते हैं उसी का योगदान जीडीपी में लगाया जाता है और उसी से जीडीपी निकाला जाता है

जीडीपी की कितनी परिभाषा होती है | What is the definition of GDP in Hindi

अब चलिए मैं आप लोगों को जीडीपी का परिभाषा बताता हूं यानी की जीडीपी को मुख्य रूप से कितने भागों में बांटा गया है और हर एक भाग किस काम के लिए जाना जाता है यह जानना आप लोग की बहुत ही ज्यादा जरूरी है
जीटीपी समझने के लिए आप लोगों को इस बात का समझना बहुत ही जरूरी है जीडीपी में सिर्फ चार चीजों का बहुत ही ज्यादा महत्व दिया जाता है वह चार चीजें कौन-कौन से हैं चलिए मैं आप लोगों को बताता हूं
पहला है राजनैतिक सीमा दूसरा है 1 साल तीसरा है वस्तु एवं सेवा और चौथा है अंतिम मूल्य चलिए अब मैं आप लोगों को इन सब को एक-एक करके इसका उदाहरण बताता हूं 

जीडीपी में राजनैतिक सीमा क्या है | What is the political limit in GDP

जीडीपी में राजनैतिक सीमा बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है इसका यह मतलब है कि जब जीडीपी को निकाला जाता है तो अपने देश के सीमा के अंदर ही रखा जाता है जैसे कि अगर कोई अमेरिका की कंपनी भारत में आकर मिक्सर मशीन बना रही है तो उसे भारत की जीडीपी में गिना जाएगा भारत सिर्फ अपने देश के अंदर के जीडीपी को गिनता है ना कि दूसरे किसी देश के इसे और अच्छा से समझने के लिए मैं आपको बताता हूं की अगर भारत एक छोटा गोलाकार का गोला है तो वह सिर्फ अपने अंदर हो रहे हैं अर्थव्यवस्थाओं को गिन कर जीडीपी निकालेगा ना कि दूसरे देश के

 जीडीपी में एक साल क्या होता है | What is 1 year in GDP

जब भी भारत का जीडीपी निकाला जाता है तो वह एक दो महीने में नहीं बल्कि 1 साल में निकाला जाता है सरकार 11 महीने तक यह ध्यान देती है कि कौन सी कंपनी ने कितना माल बेचा या फिर कौन सी कंपनी ने कितना पैसा कमाया या फिर उत्तर प्रदेश का रमेश दुबई में जाकर कितना पैसा कमाया और उन सब को मिलाकर 1 साल में इंडिया का जीडीपी तैयार होता है इसमें कार बनाने वाली कंपनी दूध बेचने वाली कंपनी यानी कि भारत में जितनी भी कंपनियां हैं उन सब को जोड़ा जाता है और 1 साल में कितनी जीडीपी निकली है उसे बताया जाता है अगर जीडीपी कम निकले तो यानी कि भारत की अर्थव्यवस्था खराब हो रही है और जीडीपी ज्यादा निकली यानी कि भारत और उन्नति के रास्ते पर है 

जीडीपी में वस्तु और सेवा क्या होता है | What is Goods and Services in GDP

जीडीपी का जो तीसरा सबसे महत्वपूर्ण पार्ट है वह है वस्तु और सेवा यह सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है इन दोनों को मैं आप लोगों को एक-एक करके समझाता हूं 

जीडीपी में वस्तु क्या होता है | What is a commodity in GDP 

सबसे पहले मैं आप लोगों को यह समझाता हूं कि जीडीपी में वस्तु का क्या मतलब होता है जब भी आप लोग दुकान पर जाते हैं किसी चीज को खरीदने के लिए तो आप लोगों से पैसे देते हैं और उसके बदले में आप लोगों को कोई सामान मिलता है कोई वस्तु मिलता है यानी कि अगर आप लोग किसी मोटरसाइकल की दुकान पर जाते हैं तो आप लोग उसे पैसे देते हैं और वह आपको मोटरसाइकिल देता है यानी कि आप उस वस्तु के पैसे उसे दे रहे है 
इसको समझने का एक और तरीका है जब भी आप लोग होटल में खाना खाने जाते तो आप लोग खाना ऑर्डर करते हैं थोड़ी देर बाद खाना की टेबल पर आ जाता है अब लोग उसे खाते हैं और खाना खाने के बाद मैनेजर के पास जाते हैं और उसे पैसे देते हैं यानी कि वह पैसा आप किसी वस्तु के लिए दे रहे हैं क्योंकि खाना आप लोगों ने खाया और उसका पैसा उसे दे दिया 

जीडीपी में सेवा क्या होता है | What is service in GDP

अब दूसरी बात आती है कि जीडीपी में सेवा क्या होता है तो चलिए मैं आप लोगों को इस समझाता हूं जैसे कि आप लोगों ने अपना नामांकन एक बड़ी स्कूल में करवाया वहां पर आप लोगों ने अपना फीस जमा करवाया और वहां से पढ़ाई की आप लोगों ने वहां से कुछ सीखा तो उसे ही कहते हैं सेवा क्योंकि स्कूल वालों ने आपको सिखाया यानी की आपकी सेवा की तब आप लोगों ने उन्हें पैसे दिया ना कि आप लोगों ने उन्हें किसी वस्तु के लिए पैसा दिया है 
इसको मैं आप लोगों को एक और तरीके से समझाता हूं जब भी आप लोग जिम करने के लिए जिम सेंटर में जाते हो तो आप लोग कोई वस्तु नहीं लेते हो बल्कि आप लोग वहां पर जाते हो और कुछ सीखते हो यानी कि वहां पर अपने बॉडी बनाने जाते हो सीखने जाते हो तो आप लोग उसके पैसे देते हो ना कि कोई वस्तु लेते हो और पैसे देते हो तो सेवा में और वस्तु में यही अंतर होता है 

जीडीपी में अंतिम मूल्य क्या होता | What is the final value in GDP

जब भी जीडीपी को निकाला जाता है तो भारत में किसी भी वस्तु का अंतिम मूल्य को गिना जाता है यानी की फाइनल प्राइस को अभी से समझने के लिए आप लोगों को थोड़ा ध्यान देना पड़ेगा 
जब भी आप लोग दुकान पर पेड़ा लेने के लिए जाते हो तो आप लोग दुकानदार को पेड़े का फाइनल मूल्य देते हो यानी अंतिम मूल्य अगर आप लोग दुकान वालों से पूछोगे कि पेड़े कितने का है तो वह आपको बताएगा कि ₹10 का एक पेड़ा है यह थोड़ी ना बताएगा कि इस पेड़े को बनाने के लिए दूध का इस्तेमाल किया गया था दूध ₹50 लीटर है और दूध के साथ साथ पेड़े बनाने के लिए चीनी का भी इस्तेमाल किया था और चीनी ₹70 किलो है तो तुम मुझे दूध और चीनी के पैसे मिला कर दे दो ऐसा नहीं बताएगा वह पेड़े का लास्ट प्राइस बताएगा कि वह पेड़ा कितना रूपया में देगा और इसे ही हम लोग आखरी मूल्य कहते हैं 

जीडीपी किसे कहते हैं | what is GDP 

अगर मैं आप लोगों को सिंपल भाषा में समझाऊं एक शब्द में तू इंडिया में जितनी भी कंपनी अपना माल बनाती है प्रोडक्ट बनाती हैं जैसे कि कोई कार कंपनी अपनी कार बना रही है कोई मोटरसाइकिल कंपनी अपना मोटरसाइकिल बना रही है बिल्डिंग बनाने के लिए जो खुरपी बसूरी इन सब चीजों की जरूरत पड़ती है कोई कंपनी उसे बना रही है या फिर हॉस्पिटल में लगने वाला लाइट चेयर कुर्सी यह सब चीजें बन रहा है कोई कंपनी दूध उत्पाद कर रही है कृषि उद्योग में काम लाने वाली चीजें जैसे कि ट्रैक्टर ट्रॉली टिड्डी ड्रिल मशीन यह सब चीजें बन रही है और इन सब का हिसाब रखना ही जीडीपी कहलाता है

जीडीपी का फुल फॉर्म क्या होता है | What is the full form of GDP

जीडीपी का फुल फार्म gross domestic product अगर मैं आप लोगों को हिंदी में बताऊं तो इसका मतलब होता है सकल घरेलू उत्पाद

सकल घरेलू उत्पाद क्या है | what is gross domestic product

सकल घरेलू उत्पाद यह है कि जब किसी देश की सीमा के भीतर अलग-अलग कंपनी कोई अपना प्रोडक्ट बनाकर ज्यादा बेचती है यानी कि उस देश का जीडीपी बहुत ज्यादा है वह देश तरक्की के रास्ते पर है और उन लोगों को रोजगार देगा लोग उससे पैसे कमाएंगे और अगर उस देश की कंपनी एक भी माल अपनी फैक्ट्री में नहीं बना रही है यानी कि उस फैक्ट्री में लोग भी काम नहीं कर रहे होंगे तो जीडीपी गिरेगी जिससे कि हमारे देश को बहुत ही ज्यादा हानि होगा 

चेतावनी 

जो भी मैंने आपको जीडीपी के बारे में जानकारी बताया है उसमें कुछ गलत भी हो सकता है क्योंकि यह सब कुछ मैंने इंटरनेट से ही खोजा है तो इसमें हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं है 

से भी पढ़ें

आप लोगों ने क्या सीखा ?

इस लेख में मैंने आपको बताया है कि जीडीपी क्या होता है सकल घरेलू उत्पाद क्या होते हैं what is GDP GDP ka full form जीडीपी के बारे में सभी जानकारी देने की कोशिश किया हूं अगर पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करिएगा ~ धन्यवाद ~
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular